पार्ट-टाइम blogging: फुल-टाइम नौकरी के साथ कैसे करें 2023

आजकल Blogging एक लोकप्रिय करियर ऑप्शन बनता जा रहा है। खासतौर पर युवाओं में Blogging का क्रेज तेजी से बढ़ रहा है। लेकिन सभी के पास इसे फुल-टाइम करने का ऑप्शन नहीं होता।

अगर आप पहले से ही किसी फुल-टाइम नौकरी में हैं, तो भी आप पार्ट-टाइम Blogging शुरू कर सकते हैं। यह एक अच्छा साइड इनकम का जरिया बन सकता है।

पार्ट-टाइम Blogging करते समय, आपको कुछ बातों का खास ख्याल रखना होगा:

निश्चित टाइमिंग

जब आप पहले से ही एक फुल-टाइम जॉब में हों, तो आपके पास Blogging के लिए ज्यादा समय नहीं होगा। इसलिए, आपको एक निश्चित टाइम-टेबल सेट करना होगा, जिसमें आप Blogging के लिए समय निकाल सकें।

उदाहरण के लिए, सप्ताह में 2-3 घंटे या डेली 30-45 मिनट आप Blogging के लिए सेट कर सकते हैं। इस दौरान आप पोस्ट लिख सकते हैं, रिसर्च कर सकते हैं, या ब्लॉग के प्रमोशन का काम कर सकते हैं।

शॉर्ट पोस्ट

पार्ट-टाइम ब्लॉगिंग के दौरान आपको लंबे आलेख लिखने की बजाय छोटे और क्रिस्प पोस्ट पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। जैसे कि How-to guides, list posts, quick tips आदि।

ये पोस्ट आसानी से लिखे जा सकते हैं और पाठकों को भी पसंद आते हैं। ऐसे पोस्ट आप ब्लॉग की पहचान बनाने में मदद करेंगे।

आउटसोर्सिंग

जहां तक ​हो सके, आप Blogging के अन्य काम जैसे टेक्निकल डिटेल्स, एसईओ, वेब डिजाइन आदि को आउटसोर्स कर सकते हैं। यह आपको पोस्ट लिखने में फोकस करने देगा।

लेकिन शुरुआत में बजट कम हो सकता है। तो फिर खुद ही करना पड़ेगा।

निष्ठा और धैर्य

पार्ट-टाइम Blogging में सफलता पाने के लिए आपको निष्ठा और धैर्य रखना बहुत जरूरी है। कई महीनों तक आपको views या income में कोई खास ग्रोथ नहीं दिखेगी।

लेकिन हार नहीं माननी है। निरंतर कंटेंट प्रोडक्शन और सही प्रमोशन से 1-2 साल में अच्छी प्रगति दिखनी शुरू हो जाएगी।

पार्ट टाइम Blogging के फायदे

1. अतिरिक्त आय का स्रोत

पार्ट टाइम Blogging से आप एक अच्छा अतिरिक्त आय कमा सकते हैं। Google AdSense, Affiliate Marketing या Product Promotions से कमाई की जा सकती है।

शुरुआत में यह आय कम हो सकती है, लेकिन धीरे-धीरे आप इसे बढ़ा सकते हैं। एक समय बाद यह आपकी मुख्य आय का भी स्रोत बन सकती है।

2. कौशल विकास

Blogging आपके लेखन, संपादन, क्रिएटिव और टेक्निकल कौशल का विकास करती है।

आप नए सॉफ्टवेयर टूल्स का इस्तेमाल सीखेंगे। साथ ही रिसर्च, टाइम मैनेजमेंट और मल्टीटास्किंग कौशल भी बढ़ेंगे।

3. फ्रीडम और फ्लेक्सिबिलिटी

स्वतंत्र ब्लॉगिंग आपको अपने काम के घंटों और शेड्यूल को खुद तय करने की आजादी देती है।

आप जब चाहें कहीं से भी काम कर सकते हैं। यह वर्क-लाइफ बैलेंस बनाए रखने में मदद करता है।

4. करियर ग्रोथ और ओप्चन

Blogging आपके लिए एक नया करियर ऑप्शन खोल सकती है। इस क्षेत्र में आगे बढ़ने की काफी संभावनाएं हैं।

अपने ब्लॉग की सफलता के आधार पर आप फुल-टाइम ब्लॉगर, व्राइटर, या डिजिटल मार्केटर बन सकते हैं।

पार्ट-टाइम ब्लॉगिंग के नुकसान

हालांकि पार्ट-टाइम Blogging कई लाभ प्रदान करती है, कुछ नुकसान भी हैं जिन्हें ध्यान में रखना चाहिए:

1. टाइम कमी

सबसे बड़ी समस्या समय की कमी की होती है। जब आप एक नौकरी कर रहे हों तो Blogging के लिए पर्याप्त समय निकालना मुश्किल हो जाता है।

इससे कंटेंट क्रिएशन और प्रमोशन प्रभावित होता है। लेकिन सही प्लानिंग से इसे मैनेज किया जा सकता है।

2. बहु-टास्किंग से थकान 

Blogging के साथ नौकरी और घर के अन्य काम करना चैलेंजिंग होता है। इससे मानसिक और शारीरिक थकान महसूस हो सकती है।

खुद को रिलेक्स रखना और ब्रेक लेना बेहद ज़रूरी है। प्राथमिकताओं का ध्यान रखें।

3. आय में देरी

पार्ट-टाइम Blogging से तुरंत आय की उम्मीद नहीं की जा सकती। लंबे समय तक कंटेंट डेवलप करने के बाद ही इसमें अच्छी कमाई शुरू होती है।

कम व्यूज और कम कमाई के कारण हताशा महसूस हो सकती है। लेकिन थोड़े से धैर्य के साथ इस स्थिति को बदला जा सकता है।



पार्ट-टाइम Blogging के प्रकार

आजकल लोग अलग-अलग प्रकार के निशे के आधार पर पार्ट-टाइम Blogging कर रहे हैं। कुछ लोकप्रिय श्रेणियां निम्न हैं: 

  • लाइफस्टाइल ब्लॉगिंग

यह Blogging का सबसे लोकप्रिय प्रकार है। जीवन शैली, फैशन, स्वास्थ्य, खाना, यात्रा जैसे विषयों पर पोस्ट्स लिखी जाती हैं।

इन विषयों में दिलचस्पी रखने वाले बड़ी संख्या में होते हैं और ब्लॉग्स को अच्छा रेस्पॉन्स मिलता है।

  • टेक ब्लॉगिंग

टेक Blogging में तकनीकी विषयों पर लिखा जाता है। जैसे – प्रोग्रामिंग लैंग्वेज, एप्स, सॉफ्टवेयर, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, ब्लॉकचेन आदि।

टेक्नोलॉजी कंपनियां ऐसे निशेशील ब्लॉग्स का बड़े पैमाने पर प्रमोशन करती हैं। इनसे अच्छी कमाई की जा सकती है।

  • फाइनेंस ब्लॉगिंग

फाइनेंशियल प्लानिंग, बजटिंग, ट्रेडिंग, क्रिप्टोकरेंसी, इन्वेस्टिंग जैसे विषय चर्चा का मुद्दा बनते जा रहे हैं।

ऐसे मुद्दों पर Blogging की जा सकती है। फाइनेंस एक्सपर्ट्स द्वारा इस तरह के ब्लॉग को गाइड किया जा सकता है।

  • कंटेंट मार्केटिंग

कंटेंट मार्केटिंग Blogging काफी लोकप्रिय हो रहा है क्योंकि इंटरनेट पर सैकड़ों कंपनियां अपना बिजनेस शुरू कर रही हैं।

डिजिटल मार्केटिंग के टूल्स, तकनीक और रणनीतियों पर विस्तार से लिखा जाता है। एक डिजिटल मार्केटर के लिए ये ब्लॉग करना फायदेमंद हो सकता है।

  • एजुकेशन ब्लॉगिंग

शिक्षा और प्रशिक्षण से जुड़े विषय भी Blogging के लिए एक अच्छा निशा है। टीचर्स और एजुकेटर्स इसे अपना सकते हैं।

ऑनलाइन लर्निंग रिसोर्सेज, एग्जाम गाइडेंस, करियर सलाह जैसे टॉपिक पर लिखा जा सकता है। ये ब्लॉग छात्रों के बीच काफी लोकप्रिय होते हैं।

  • ब्यूटी और फैशन

सौंदर्य और फैशन उद्योग में भारी संभावनाएं हैं। घरेलू इलाज, स्किनकेयर, मेकअप टिप्स, हेयरस्टाइल और फैशन जैसे विषयों पर ब्लॉगिंग की जा सकती है।

ऐसे ब्लॉग पर प्रॉडक्ट रिव्यू और रेफरल भी किए जा सकते हैं जिससे कमीशन कमाया जा सकता है।

  • निष्कर्ष

ये कुछ लोकप्रिय Blogging निशे हैं। अपनी रुचि और कौशल के अनुसार आप इनमें से किसी भी प्रकार की Blogging शुरू कर सकते हैं।

आपको बस शुरुआत में थोड़ा धैर्य और मेहनत करनी होगी। कुछ महीनों बाद आप अपने ब्लॉग से अच्छी आय हासिल करना शुरू कर देंगे।



औसत आय कितनी कमा सकते हैं?

यह सवाल अकसर उठता है कि पार्ट टाइम Blogging से कितनी कमाई की जा सकती है। आइए जानते हैं:

नए ब्लॉगर्स के लिए

– पहले 6 महीने में ₹5000-₹10000 महीना

– 6 महीने से 1 साल के बीच ₹15000-₹30000 महीना

अनुभवी ब्लॉगर्स के लिए

– 1-2 साल में ₹40000-₹50000 महीना

– 3+ साल में ₹1 लाख+ महीना

ये औसत आंकड़े हैं। आपकी ब्लॉग की निशे के हिसाब से आय अलग-अलग हो सकती है। निष्ठा और लगन के साथ काम करके इसे बढ़ाया जा सकता है।

पार्ट-टाइम ब्लॉगिंग कैसे शुरू करें

चलिए अब देखते हैं कि आप एक नौकरीपेशा व्यक्ति के तौर पर पार्ट-टाइम ब्लॉगिंग कैसे शुरू कर सकते हैं:

  • ब्लॉगिंग निशा चुनें

सबसे पहले अपने ब्लॉग के लिए एक निशा या निशे का चयन करें। अपनी रुचि और ज्ञान के आधार पर चुनें।

  • डोमेन नाम और होस्टिंग खरीदें 

अगला कदम एक यूनिक और कैची डोमेन नाम चुनना है। उसके बाद होस्टिंग और वर्डप्रेस सेटअप खरीदना होगा।

  • वेबसाइट डिज़ाइन तैयार करें

अपनी ब्लॉगिंग थीम का चयन करें। डिज़ाइन और लेआउट को प्रोफेशनल बनाएं। मेनू, साइडबार आदि सेट करें।

  • लॉन्चिंग पोस्ट लिखें

आपके ब्लॉग के बारे में एक परिचयात्मक “Hello World” पोस्ट लिखें। इसमें ब्लॉग का मकसद व लक्ष्य बताएं।

  • कंटेंट कैलेंडर और पोस्ट आइडियाज़ 

 अगले कुछ महीनों के लिए आगे लिखने के लिए विषयों और पोस्ट सूची तैयार करें। रिसर्च के आधार पर टॉपिक चुनें।

  • सोशल मीडिया प्रोफाइल बनाएं

फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पर अपने ब्लॉग के लिए पेज बनाएं। इनका लिंक अपनी वेबसाइट पर शेयर करें।

ब्लॉग प्रमोट करना शुरू करें

सोशल मीडिया और ऑनलाइन फोरम का इस्तेमाल करके धीरे-धीरे अपने ब्लॉग का प्रमोशन शुरू करें।

गुणवत्तापूर्ण कंटेंट और नियमितता से विजिटर्स को आकर्षित करें। कमाई के विकल्प भी एक्सप्लोर करते रहें।

इस तरह धीरे-धीरे आप अपना पार्ट टाइम ब्लॉगिंग बिजनेस शुरू कर सकते हैं और इसे बढ़ा सकते हैं। आपको बस शुरुआत में थोड़ा धैर्य और मेहनत करनी होगी।

आशा करता हूं यह लेख आपको पार्ट-टाइम ब्लॉगिंग शुरू करने के लिए प्रेरित और मददगार साबित होगा।

Check out the previous blog on Cryptocurrency

1 thought on “पार्ट-टाइम blogging: फुल-टाइम नौकरी के साथ कैसे करें 2023”

Leave a Comment

Chat GPT se paise kaise kamaye in Hindi mobail se paise kaise kamaye hindi me Digital Marketing से कमाए लाखो रुपये WordPress developers के लिए कौन – कौन से plugins होना चाहिए Search Engine के लिए अपनी Images को कैसे Optimize करें क्या AI टूल्स SEO के लिए खराब हैं Twitter Social Media Kya Hai Free Google SEO Tools Paynearby App Kya Hai सोशल मिडिया से करनी है कमाई तो इन बातो का रखें ध्यान